ब्रेकिंग न्यूज़

 AICTE का छात्रों पर बड़ा फैसला, इंजीनियरिंग के लिए मैथ्स और फिजिक्स की अनिवार्यता को किया खत्म
ऑल इंडिया काउंसिल फॉर टेक्नोलॉजी एजुकेशन (AICTE) ने इंजीनियरिंग में दाखिला लेने वाले छात्रों को एक बहुत बड़ा तोहफा दिया है। दरअसल, AICTE ने इंजीनियरिंग में दाखिला लेने वाले छात्रों के लिए अब 12वीं कक्षा में गणित और फिजिक्स की अनिवार्यता को खत्म कर दिया है और इसे वैकल्पिक बना दिया है। यानि कि अब जो छात्र इंजीनियरिंग में दाखिला लेना चाहेगा, उसे 12वीं में ये दो सबजेक्ट पढ़ना जरूर नहीं होगा।

इसी साल से लागू हो सकता है संशोधन

आपको बता दें कि अभी तक BE और B.Tech में दाखिला लेने के लिए 12वीं में फिजिक्स, कैमिस्ट्री और मैथ्स पढ़ना जरूरी होगा, लेकिन अब इस संशोधन के बाद 2021-22 के सेशन में बीई और बीटेक में एडमिशन लेने के लिए कक्षा 12 वीं में गणित और भौतिकी को वैकल्पिक बनाया है। हो सकता है AICTE इसी साल से इस संशोधन को लागू कर दे।

इनमें से किन्हीं तीन विषयों को करना होगा पास

AICTE ने 2021-22 सेशन के लिए अंडर ग्रैजुएट कोर्स में दाखिला के लिए पात्रता मानदंड में जो बदलाव किए हैं, उसकी पूरी जानकारी दी है। संशोधन के मुताबिक, अब छात्रों को इंजीनियरिंग में एडमिशन लेने के लिए इन विषयों में से किसी तीन में 12वीं पास करनी होगी। ये विषय हैं। फिजिक्स, मैथ्स, केमिस्ट्री, कंप्यूटर साइंस, इलेक्ट्रोनिक्स, इन्फॉर्मेशन टेक्नोलॉजी, बायलोजी, इन्फॉर्मेटिक प्रैक्टिस, बायोटेक्नोलॉजी, टेक्निकल वोकेशनल सबजेक्ट, एग्रीकल्चर, इंजीनियरिंग ग्राफिक्स, बिजनेस स्टडीज और एंटरप्रेन्योरशिप।

इन विषयों में किसी तीन में 45 फीसदी मार्क्स लाने होंगे। इसके अलावा रिजर्व कैटिगरी के छात्रों को 40 फीसदी मार्क्स लाने होंगे। एआईसीटीई ने अपनी हैंडबुक में कहा, "विश्वविद्यालय विभिन्न पृष्ठभूमि से आने वाले छात्रों के लिए गणित, भौतिकी, इंजीनियरिंग ड्राइंग जैसे उपयुक्त कोर्स की पेशकश करेंगे।"
 

Related Post

Leave A Comment

छत्तीसगढ़