ब्रेकिंग न्यूज़

महासमुंद :  नगरीय प्रशासन मंत्री के हाथों कोरोना टीकाकरण में उत्कृष्ट कार्य करने वाले 61 अधिकारी कर्मचारियों को किया सम्मानित

 द न्यूज़ इंडिया समाचार सेवा 

 
कोरोना वैक्सीन की शत प्रतिशत खुराख देने और जागरुक करने में सभी की मेहनत :- मंत्री डॉ. शिवकुमार डहरिया 

ज़िले में भी सभी के सहयोग के कारण कोरोना की रफ़्तार थमी

No description available.
महासमुंद : महासमुंद जिला कोविड-19 टीकाकरण में छत्तीसगढ़ में दूसरे स्थान पर है। महासमुंद जिले के नगर पंचायत पिथौरा कोविड के प्रथम एवं द्वितीय डोज का शत प्रतिशत टीकाकरण कराने में प्रदेश में प्रथम स्थान आने पर नगरीय प्रशासन एवं श्रम मंत्री डॉ. शिव कुमार डहरिया ने नगर पंचायत अध्यक्ष श्री आत्माराम यादव, जनप्रतिनिधियों सहित नगर पंचायत पिथौरा एवं स्वास्थ्य विभाग, महिला एवं बाल विकास विभाग के 61 उत्कृष्ट कार्य करने वाले अधिकारी कर्मचारियों को सम्मानित किया गया। इस दौरान उन्होंने कहा कि यह हमारे लिए बड़े ही गर्व की बात है कि कोविड 19 के रोकथाम एवं बचाव के लिए जनप्रतिधियों, अधिकारी कर्मचारियों एवं गणमान्य नागरिको के जागरूकता होने के कारण यहां के लोगों को लक्ष्य के अनुरूप सभी के सहयोग से शत प्रतिशत टीकाकरण होने पर शुभकामनाएं दी। 
 
No description available.

   उन्होंने कहा कि प्रदेश में राज्य शासन और ज़िला प्रशासन के बेहतर क्रियान्वयन के कारण इसमें कमी आयी । ज़िले में भी सभी के सहयोग के कारण कोरोना की रफ़्तार थमी है ।सभी ने अपनी जान की परवाह किए बिना निस्वार्थ भाव से सेवाएं दी हैं। वहीं जनप्रतिनिधियों और आम जनता ने भी कोरोना की रोकथाम व कोरोना संक्रमित मरीजों की देखभाल व कोरोना से बचाव के लिए लोगों को जागरूक करने में अपनी अहम भूमिका निभाई। मंत्री डॉ. डहरिया ने कहा कि स्वास्थ्य कर्मचारियों,नगर पंचायत के अथक प्रयासों के चलते कोरोना वैक्सीन की पहली और दूसरी डोज लगाने में शत प्रतिशत लक्ष्य हासिल करने का खिताब नगर पिथौरा को मिला । संक्षिप्त कार्यक्रम लोकनिर्माण सर्किट हाउस पिथौरा में आयोजित था ।
   कलेक्टर श्री डोमन सिंह ने बताया कि जिले का पिथौरा नगर पंचायत नौ अक्टूबर को दूसरे चरण के अंतिम पात्र हितग्राही को कोविड का दूसरी डोज लगाकर शत-प्रतिशत टीकाकरण करने वाला पहला नगरीय निकाय बना। इससे पहले पूरा महासमुंद जिले में सभी पात्र लोगों को कोरोना की पहली खुराक दी जा चुकी है । ज़िले में लगभग 50 प्रतिशत पात्र लोगों को दूसरा टीका लगाया जा चुका है। वही पिथौरा नगर में शत-प्रतिशत पात्र लोगों को दूसरी डोज लगाई जा चुकी है। जिले में शुरू की गई कोरोना मुक्त मुहिम और तेज हो गई है। वहीं जिले में लगभग 42 फीसद लोगों का दूसरे चरण का टीकाकरण किया जा चुका है। उन्होंने कहा कि पिथौरा नगर पंचायत में प्रथम एवं दूसरे चरण के दूसरी डोज के लिए 6,200 पात्र लोगों को टीकाकरण करने का लक्ष्य था, जो पूरा कर लिया गया है। पिथौरा नगर पंचायत जिले की पहली नगर पंचायत बनी, जहां सभी पात्र लोगों को पहली और दूसरी कोरोना की डोज लगाई गई।यहां कोविड टीकाकरण के लिए लोगों में भारी उत्साह देखा गया था। कलेक्टर डोमन सिंह ने नगर पंचायत पिथौरा को दूसरे चरण में पहले लक्ष्य हासिल करने पर वहां के सभी नागरिकों, जनप्रतिनिधियों, स्वास्थ्य कर्मियों, मितानिनों अधिकारी-कर्मचारियों को इसकी बधाई दी । इस अवसर पर पुलिस अधीक्षक श्री दिव्यांग पटेल,ज़िला पंचायत अध्यक्ष श्रीमती ऊषा पटेल, नगर पंचायत अध्यक्ष श्री आत्माराम यादव,जनपद अध्यक्ष श्री सत्यभाभा नाग सहित स्वास्थ्य अमला सहित विभिन्न विभागों के अधिकारी-कर्मचारी उपस्थित थे । 

  मंत्री डॉ. डहरिया ने कहा कि कोरोना वैक्सीन की पहली,दूसरी डोज लगाने एवं लोगों को जागरुक करने में सभी की मेहनत रंग ला रही है । इस काम को स्वास्थ्य कर्मचारियों द्वारा बखूबी निभाया जा रहा है। उन्होंने कहा कि शत प्रतिशत लोग कोरोना वैक्सीन की दूसरी डोज लगवाएं, इसके लिए जनप्रतिनिधि ऐसे लोगों को जागरूक व प्रेरित करें, जिन लोगों ने कोरोना वैक्सीन की पहली डोज लगवाने के निर्धारित तिथि को लगवाये। ताकि कोरोना वैक्सीन की दूसरी डोज भी शत प्रतिशत लोगों को लगाने में पूरा ज़िला नंबर वन का खिताब हासिल कर सके। उन्होंने कहा कि देखने में आया है कि लोग कोरोना के प्रति लापरवाही बरतने लगे हैं जो कि सही नहीं हैं, क्योंकि कोरोना का संकट अभी टला नहीं है। लिहाजा जनप्रतिनिधि लोगों को कोरोना से बचाव के लिए सुरक्षा उपाय अपनाने के प्रति जागरूक करें ।

     इस अवसर पर मंत्री डॉ. डहरिया ने कहा कि मुख्यमंत्री भूपेश बघेल के नेतृत्व में प्रदेश में लागू की गई कल्याणकारी योजनाओं का परिणाम है कि विगत ढ़ाई वर्ष में प्रदेश के किसानों की आमदनी बढ़ी है और किसान समृद्धि की राह पर आगे बढ़े हैं। कोरोनाकाल में भी राज्य की आर्थिक स्थिति अन्य राज्यों से बेहतर रही। किसानों के खाते में पैसे डाले जाने से राज्य में व्यवसायों में भी वृद्धि हुई है।
 

Related Post

Leave A Comment

छत्तीसगढ़