ब्रेकिंग न्यूज़

 राजस्थान: CM अशोक गहलोत ने जीता विश्वास मत...
राजस्थान : राजस्थान में लगभग एक महीने से जारी सियासी खींचतान के बाद आखिरकार गहलोत सरकार के सिर से संकट का बादल छंट गए। शुक्रवार को विधानसभा सत्र में गहलोत सरकार ने विश्वास मत जीत लिया। सभी ने एक ध्वनिमत होकर विश्वासमत पास किया। इसी के साथ राजस्थान विधानसभा सत्र 21 अगस्त तक के लिए स्थगित कर दिया गया है। बता दें कि इससे पहले जयपुर में भारी बारिश के कारण कांग्रेस विधायकों की बस जलभराव में फंस गई थी जिस कारण विधानसभा की कार्रवाई सुबह 11 बजे की बजाए 1 बजे शुरू हुई

सरकार के बचाव में खड़े हुए पायलट
राजस्थान के पूर्व उपमुख्यमंत्री सचिन पायलट ने हालिया सियासी घटनाक्रम को लेकर विपक्ष की आलोचनाओं पर पलटवार करते हुए खुद को सबसे मजबूत योद्धा बताया और कहा कि वे विपक्ष के हमलों से सत्ता पक्ष को हर कीमत पर सुरक्षित रखेंगे। पायलट ने सदन में सरकार की ओर से लाए गए विश्वास मत प्रस्ताव पर बहस के दौरान हस्तक्षेप करते हुए यह बात कही। हालांकि सदन में पायलट को सीट नहीं दी गई और वे गैलरी में आने-जाने वाले रास्त पर अलग से कुर्सी डाल कर बैठे। बता दें कि मुख्यमंत्री अशोक गहलोत के नेतृत्व के प्रति बगावत के बाद पायलट को उपमुख्यमंत्री व कांग्रेस प्रदेशाध्यक्ष पद से हटा दिया गया था। सदन में उनके बैठने की जगह भी बदल दी गई। पहले वे सत्तापक्ष में मुख्यमंत्री के पास वाली सीट पर बैठते थे अब उन्हें ऐसी सीट दी गई है जहां उनके एक ओर सत्ता पक्ष तो दूसरी ओर विपक्ष है।

प्रस्ताव पर बहस के दौरान उपनेता प्रतिपक्ष राजेंद्र राठौड़ ने हालिया राजनीतिक व अन्य घटनाक्रम, पुलिस के विशेष कार्यबल द्वारा नोटिस दिए जाने सहित अनेक बातों में पायलट का जिक्र किया। इस पर पायलट ने हस्तक्षेप करते हुए कहा,‘‘वह (राठौड़) बार- बार मेरा नाम ले रहे हैं। मैंने सोचा कि हमारे अध्यक्ष व मुख्य सचेतक ने मेरी सीट यहां क्यों रखी है? मैंने दो मिनट सोचा और फिर देखा कि यह सरहद है एक तरफ पक्ष है और दूसरी तरफ विपक्ष.... तो सरहद पर किसको भेजा जाता है। सबसे मजबूत योद्ध को भेजा जाता है।'

पायलट ने कहा, ‘‘आज इस विश्वास मत में जो चर्चा हो रही है...उसमें बहुत से बातें बोली गईं बहुत सी बातें बोली जाएंगी। समय के साथ साथ सब बातों का खुलासा होगा।'' उन्होंने कहा,‘‘लेकिन मैं इतना कहना चाहता हूं कि जो कुछ कहना था सुनना था चाहे मैं हूं या मेरा कोई साथी हो .. हम लोगों को जिस डाक्टर के पास अपने मर्ज को बताना था वो बता दिया...इलाज कराने के बाद हम सब लोग आज... सवा सौ लोग सदन में खड़े हैं। आलाकमान के हस्तक्षेप के बाद ही पायलट व उनके खेमे के 18 विधायक गुरुवार को कांग्रेस विधायक दल की बैठक में शामिल हुए। इससे पहले पायलट ने मुख्यमंत्री गहलोत से अलग से मुलाकात भी की थी।
 

Related Post

Leave A Comment

छत्तीसगढ़

Advertisement