ब्रेकिंग न्यूज़

स्प्रिंटर दूती चंद ने कबूली समलैंगिक होने की बात

 नई दिल्ली : भारत की सबसे बेहतरीन महिला स्प्रिंटर, 100 मीटर की मौजूदा राष्ट्रीय चैंपियन साथ ही पिछले वर्ष नेशनल गेम्स में दो सिल्वर मेडल जीतने वाली दूती चंद ने एक खुलासा करके पूरी दुनिया को चौंका दिया है। दूती ने पूरी दुनिया के सामने अपने प्यार का इजहार करते हुए कहा कि वो पिछले कुछ वर्षों से अपनी गृहनगर की एक लड़की के साथ रिश्ते में हैं यानी समलैंगिक हैं। दूती पहली ऐसी भारतीय महिला एथलीट हैं जिन्होंने समलैंगिक होने की बात सार्वजनिक तौर पर कबूल की है। दूती ये नहीं चाहतीं हैं कि उनकी पार्टनर लोगों के आकर्षण का केंद्र बने। 

 
दूती चंद ने अपने रिलेशन के बारे में बात करते हुए कहा कि मुझे कोई ऐसा मिल गया है जो मुझे अपने जान से भी प्यारा है। मुझे ऐसा लगता है कि हर किसी को इस बात की आजादी होनी चाहिए कि वो किसके साथ रहना चाहता है और किसके साथ अपना रिश्ता बनाना चाहता है। मैंने हमेशा उन लोगों का साथ दिया है और उनकी वकालत की है जो समलैंगिक रिश्तों में साथ-साथ रहना चाहते हैं। कौन किसके साथ रहना चाहता है ये उस व्यक्ति पर निर्भर करता है और उसे इस बात की पूरी छूट मिलनी चाहिए की वो अपना रिश्ता किसके साथ रखना चाहता है। 
 
दूती चंद इस वक्त ओलंपिक और विश्व चैंपियनशिप के लिए तैयारी कर रही हैं। उन्होंने कहा कि इस वक्त मेरा पूरा ध्यान इन बड़ें इवेंट्स की तैयारियों पर लगा हुआ है। दूती ने कहा कि सुप्रीम कोर्ट ने एक एतिहासिक फैसला दिया जिसमें सेक्शन 377 को अपराध के दायरे से बाहर कर दिया गया और ये हर समलैंगिक के लिए आजादी का फरमान था। उन्होंने कहा कि मेरा एक सपना था कि मुझे भी कोई मिले जो जीवनभर मेरे साथ निभाए। मैं किसी ऐसे इंसान के साथ रहना चाहती थी जो खिलाड़ी के तौर पर मेरा हौसला बढ़ाए। मै पिछले 10 वर्ष से धावक हूं और मुझे लगता है कि अगले पांच से छह वर्ष तक मैं खेलती रहूंगी। मुझे अपने देश का प्रतिनिधित्व करने के लिए पूरी दुनिया भर में घूमना पड़ता है और ऐसे में मुझे भी किसी का सहारा चाहिए। मुझे लगता है कि वो मेरे साथ ही जो मेरे लिए बेहतरीन अहसास है। 
 
दूती चंद ने पिछले वर्ष यानी 2018 में जकार्ता में आयोजित एशियन गेम्स में भारत के लिए 100 मीटर व 200 मीटर रेस में सिल्वर मेडल जीता था। 23 वर्ष की दूती चंद मुख्य तौर पर 100 मीटर, 200 मीटर व चार गुणा 100 मीटर दौड़ प्रतियोगिता में हिस्सा लेती हैं। उन्होंने वर्ष 2013 एशियन चैंपियनशिप में 200 मीटर में ब्रांज, 2017 में 100 मीटर में भी ब्रांज, 2017 चार गुणा 100 मीटर में ब्रांज व 2019 दोहा में 200 मीटर दौड़ प्रतियोगिता में भी ब्रांड मेडल जीत चुकी हैं। 100 मीटर में उनका बेस्ट प्रदर्शन 11.24 सेकेंड है जबकि 200 मीटर में उनका बेस्ट 23.00 सेकेंड है। 

Related Post

Leave A Comment

छत्तीसगढ़

Advertisement