ब्रेकिंग न्यूज़

 इंडिया की पहली वैक्सीन 'कोवाक्सिन' को मिली मानव परीक्षण की मंजूरी

नई दिल्ली। पूरा देश कोरोना संकट से जूझ रहा है, ऐसे में एक उम्मीद की किरण नजर आई है क्योंकि ड्रग कंट्रोलर जनरल ऑफ इंडिया ने वैक्सीन 'कोवाक्सिन' को अप्रूव कर दिया है , जिसके बाद कोवाक्सिन' देश की पहली कोविड-19 वैक्सीन कैंडिडेट बन गई है, इसे मानव परीक्षण के पहले और दूसरे चरण की मंजूरी मिल गई है, सूत्रों की माने तो इस वैक्सीन का इंसानों पर परीक्षण जुलाई से ही शुरू हो सकता है।

मालूम हो कि इस वैक्सीन को भारतीय चिकित्सा अनुसंधान संस्थान (आईसीएमआर) और नेशनल इंस्टीट्यूट ऑफ वायरोलॉजी (एनआईवी) दोनों ने मिलकर विकसित किया है, इस वायरस के स्ट्रेन को एनआईवी में आईसोलेट किया गया था और भारत बायोटेक को भेजा गया था, जहां यह स्वदेशी वैक्सीन के तौर पर विकसित हुई, जिसे कि DCGI ने अप्रूव भी कर दिया है।

अब इसका ट्रायल अलग-अलग उम्र के लोगों पर किया जाएगा और यह जानने की कोशिश की जाएगी कि आखिर ये वैक्सीन किस उम्र के लोगों पर असर करती है, क्या ये सभी उम्र के लिए ठीक है और ये कोरोना के संक्रमण को किस हद तक रोक सकती है और इस वैक्सीन के साइड इफेक्ट क्या है,अगर परीक्षण के दोनों चरण सफल रहते हैं तो क्लिनिकल परीक्षण का तीसरा चरण इस साल के अंत में शुरू हो सकती है, जिसके लिए हजारों मनुष्यों पर इसका ट्रायल होगा।

Related Post

Leave A Comment

छत्तीसगढ़

Advertisement