ब्रेकिंग न्यूज़

 गूगल के बाद अब अल्फाबेट के भी CEO बने सुंदर पिचाई

दुनिया की सबसे बड़ी कंपनियों में से एक गूगल और उसकी पैरेंट कंपनी एल्फाबेट का हेड अब एक भारतीय मूल का नागरिक बन गया है. नाम है सुंदरराजन पिचाई. सुंदर का प्रमोशन हुआ है और अब वो अल्फाबेट के CEO बन गए हैं. दरअसल, गूगल को बनाने वाले लैरी पेज और सर्गेई ब्रिन ने अपने पद से हटने का ऐलान किया था, जिसके बाद सुंदर को ये जिम्मेदारी मिली है. बता दें कि साल 2015 में उन्हें गूगल का सीईओ बनाया गया था.

लैरी पेज और ब्रिन ने सिलिकॉन वैली की कंपनी में बड़े बदलाव की घोषणा अपने कर्मचारियों को लिखे पत्र में की, जिसमें पिचाई का बयान भी शामिल ह. अपने बयान में पिचाई ने साफ किया कि इस बदलाव से अल्फाबेट की स्ट्रक्चर में या उसके काम पर कोई असर नहीं पड़ेगा.

उन्होंने लिखा,

‘‘मैं गूगल पर अपना ध्यान केंद्रित करता रहूंगा और साथ ही कम्प्यूटिंग के दायरे को बढ़ाने और गूगल को हर किसी के लिए ज्यादा मददगार बनाने के अपने काम को करता रहूंगा. साथ ही मैं अल्फाबेट और प्रौद्योगिक के जरिए बड़ी चुनौतियों से निपटने के उसके आगे के उद्देश्य को लेकर उत्साहित हूं.’’

साल 2004 में गूगल ज्वॉइन करने के साथ ही सुंदर ने कंपनी के कई बड़े प्रोडक्ट को तैयार करने में अहम भूमिका निभाई. इनमें क्रोम और एंड्रॉयड शामिल हैं. उन्होंने क्रोम ब्राउजर पर उस वक्त काम किया जब कई लोगों ने सोचा कि बाजार को एक नए ब्राउजर की जरूरत नहीं है.

पहली बार जब गूगल में हुआ इंटरव्यू

सुंदर ने करीब 11 साल पहले गूगल में नौकरी शुरू की थी. सुंदर ने एक इंटरव्यू में बताया था कि गूगल में जॉब के लिए 1 अप्रैल, 2004 को उनका इंटरव्यू हुआ था. तब उसी दौरान जीमेल लॉन्च हुआ था, लेकिन सुंदर को इसके बारे में जानकारी नहीं थी.


 

Related Post

Leave A Comment

छत्तीसगढ़

Advertisement