ब्रेकिंग न्यूज़

जशपुर : विश्व मात्स्यिकी दिवस का हुआ आयोजन
मत्स्य पालकों को विधायक एवं कलेक्टर ने विभागीय योजना से किया लाभांवित

मत्स्याखेट एवं आईस बकेट सहित मोटारसाईकिल का किया वितरण

जशपुर : विश्व मात्स्यिकी दिवस पर आज जशपुर के बघिमा मत्स्य हेचरी केंद्र में मुख्य अतिथि विधायक श्री विनय भगत एवं कलेक्टर श्री महादेव कावरे द्वारा मछुवा समिति मत्स्य पालकों को विभागीय योजनाओ की जानकारी देते हुए मत्स्याखेट सामग्री एवं आईस बकेट सहित मोटरसाइकिल का वितरण किया गया।

विश्व मात्स्यिकी दिवस पर मत्स्य सरंक्षण के उद्देश्य से डुमरटोली एनीकेट में मुख्य अथिति, कलेक्टर, पुलिस अधीक्षक, सीईओ जिला पंचायत, योगेश सिंह सहित अन्य जनप्रतिनिधियों द्वारा मछली डाला गया।
 
इस अवसर पर सामाजिक कार्यकर्ता श्री योगेश सिंह एवं हैप्पी सिंह, सीईओ जिला पंचायत श्री के एस मंडावी, सहायक संचालक मत्स्य श्री डी.के इजारदार, सहित मत्स्य विभाग के अन्य अधिकारी कर्मचारी उपस्थित थे। सहायक संचालक श्री इजारदार ने मत्स्य दिवस की जानकारी दी।

विनय भगत ने सभी मत्स्य पालको,मछुवा समिति के सदस्यों को बधाई एवं शुभकामनाएं देते हुए उनके दिन दूनी रात चैगुनी तरक्की करने की बात कही।
 
उन्होंने मत्स्य पालकों से कहा कि आर्थिक स्थिति को सुधारने के लिए शासन की योजनाओं का लाभ उठाएं, अर्थव्यवस्था को मजबूत बनाने की जिम्मेदारी हम सबकी है, हम सबको साथ मिलकर प्रयास करना होगा, आपके कार्यों को सुगम बनाने के लिए विभाग द्वारा मोटरसाइकिल आईस बकेट प्रदान किया जा रहा है।
 

जिससे आप फुटकर मछली विक्रेता को आस पास सहित दूरस्थ क्षेत्रो में भी जाकर मछली का विक्रय कर  अपने आर्थिक स्थिति में सुधार कर सके।  उन्होंने कहा कि वे सभी अपनी समस्याओं के लिये विभाग सहित अन्य उच्च अधिकारियों से कभी भी संपर्क कर सकते है। तत्त्परता के साथ आपकी समस्या का समाधान किया जाएगा।

इस अवसर पर कलेक्टर श्री कावरे ने उपस्थित सभी मत्स्य पालको को विश्व मात्स्यिकी दिवस की शुभकामनाएं देते हुए उन्हें मत्स्य विभाग द्वारा चलाए जा रहे विभन्न योजनाओ की जानकारी दी। मत्स्य का सरंक्षण एवं मछुवारों का जीविकोपार्जन के उद्देश्य से आज पूरे विस्व में मात्स्यिकी दिवस मनाया जाता है।
 
  सीमित संसाधनों के बावजूद जिले में उपलब्ध साधनों से मछुवा पालको द्वारा पालन किया जाता है। हमारे जिले से अन्य जिलों सहित दूसरे राज्यो में के मछुवारे मछली बीज क्रय करने आते है।

 उन्होंने सभी से मत्स्य पालको एवं किसानों को अतिरिक्त आमदनी कमाने एवं आय में बढ़ोतरी के लिए खेती के साथ साथ ही मत्स्य उत्पादन करने की बात कही। उन्होंने सभी से  उत्पादन बढ़ाने के लिए और मेहनत करने की समझाईश दी।
 
कलेक्टर ने बताया कि हमारा देश विश्व मे द्वितीय स्थान में है। इस वर्ष जिले में मछली बीज उत्पादन में रिकार्ड  183 प्रतिशत् की वृद्धि हुई है। मछली बीज उत्पादन में हमारा जिला राज्य में प्रथम स्थान पर है। इस वर्ष जिले में लगभग 5000 टन मछली उत्पादन होने की संभावना है।

सीईओ जिला पंचायत ने कार्यक्रम को संबोधित करते हुए बताया कि मत्स्य का संरक्षण मछली उत्पादक को प्रोत्साहित करने के लिए आज का दिन मात्स्यिकी दिवस  मनाया जाता है। उन्होंने सभी को कृषि एवं अन्य कार्य करते हुए अपने निजी तालाब डबरी में मछली का पालन किया जा सकता है।

उन्होंने बताया कि इस वर्ष मनरेगा के तहत जिले में अनेकों डबरी का निर्माण किया गया है जहाँ वे मछली उत्पादन कर सकते है। उन्होंने सभी मत्स्य पालको कृषको से आग्रह किया कि वे अपने खेतों में मनरेगा के तहत डबरी निर्माण कर वहाँ मछली पालन कर अपनी आमदनी में वृद्धि करे और अपने साथ साथ अपने परिवार की आर्थिक स्थिति में सुधार लाये।
 
इस दौरान 12 फुटकर मत्स्य विक्रेताओ को आईस बकेट सहित मोटरसाइकिल एवं 3 मछुवा समिति को जाल, मछली आहार सहित अन्य सामग्रियों का वितरण भी मुख्य अतिथि द्वारा किया गया।

Related Post

Leave A Comment

छत्तीसगढ़

Advertisement