ब्रेकिंग न्यूज़

 महासमुंद : बागबाहरा तहसील में गिरदावरी कार्य प्रारंभ

गिरदावरी कार्य को समयबद्ध तरीक़े से समय पर पूरा करेंगे : एसडीएम श्री जायसवाल

महासमुंद :  महासमुंद जिले के अन्य तहसीलों की तरह  बागबाहरा तहसील में गिरदावरी कार्य आज शनिवार एक अगस्त से प्रारंभ हो गया है। अनुविभागीय अधिकारी राजस्व  (एसडीएम) श्री भागवत जायसवाल ने  बताया कि तहसीलदार बलराम तम्बोली द्वारा इस बार पटवारियों, प्रतिनिधियो और आर आई के साथ गिरदावरी कार्यक्रम को समयबद्ध तरीक़े से पूरा किया जाएगा। इस काम में किसी गलती की कोई गुंजाइश नही होगी। इसके लिए त्रुटिरहित करने की रणनीति बनायी गयी। इस बार गिरदावरी की सबसे ख़ास यह रहेगी कि अब उपज लेने वाले किसान को अपने खेतों में ही खड़े होकर फसल सत्यापन करवाना है। 
  उन्होंने बताया कि एप्प के माध्यम से फ़ोटो खीचकर पटवारी उक्त एंट्री में दर्शाएगा। विस्तृत रिकॉर्ड को पटवारियों द्वारा बाद में ऑनलाइन दर्ज किया जाएगा। जितने रकबे का किसानों और पटवारी द्वारा  गिरदावरी कराया जाएगा उतने ही रकबे में इस साल धान खरीदी होगी।इससे पड़त भूमि पर उपज दिखाने वाले किसानो पर जो लगाम लगेगी।
 
इस अवसर पर ग्राम का सचिव और ग्राम कृषि विस्तार अधिकारी भी उपस्थित रहेंगे। इन सबसे संयुक्त जांच व  हस्ताक्षर उपरांत ही धान विक्रेता किसानों की सूची धान उपार्जन केंद्र को प्रदाय की जाएगी। पटवारियों का गिरदावरी कार्यक्रम पूर्व निर्धारित कर जिला कार्यालय प्रेषित की जा चुकी है तथा पंचायत में भी यह उपलब्ध है। साथ ही साथ प्रतिदिन मुनादी के माध्यम से लोगो को सूचित भी किया जाएगा।
 
 श्री भागवत ने बताया कि गिरदावरी कार्यक्रम की खास बात यह रहेगीं कि उपज लेने वाले किसानों की उपस्थिति आवश्यक रहेगी। जिससे सत्यापन हो सके कि वास्तविक उपज ही सरकारी रिकार्ड में आए। 
 
राज्य सरकार की सबसे महत्वपूर्ण कार्यक्रम धान खरीदी भी इसी रिपोर्ट पर आधारित रहेगी जबकि पूर्व में धान खरीदी अमूमन कुल रकबे के अनुसार किया जाता था। खातेदारों का आधार, मोबाइल नम्बर  डिजिटल रिकार्ड भुइयां कार्यक्रम में दर्ज़ करने इसी दौरान संग्रह किया जाएगा।

Related Post

Leave A Comment

छत्तीसगढ़

Advertisement