ब्रेकिंग न्यूज़

महासमुन्द : सुराजी गांव योजना के क्रियान्वयन के लिए ग्रामीणों के साथ मिलकर अधिकारी गंभीरतापूर्वक कार्य करें: कलेक्टर

 द न्यूज़ इंडिया समाचार सेवा 

 
मल्टीएक्टीविटी केन्द्र के रूप में गौठान में कृषि संबंधी गतिविधियां मशरूम उत्पादन, मछलीपालन, मुर्गीपालन, सामुदायिक बाड़ी एवं अन्य गतिविधियां संचालित करें
 
No description available.

महासमुन्द : कलेक्टर श्री डोमन सिंह ने गुरूवार को बागबाहरा विकासखण्ड के ग्राम कमरौद, तुसदा एवं तमोरा का भ्रमण किया। इस दौरान उन्होंने ग्राम पंचायत भवन में चौपाल लगाकर ग्रामीणों से चर्चा की। कलेक्टर ने सुराजी गांव योजना, गोधन न्याय योजना एवं राजीव गांधी किसान न्याय योजना, राजीव गांधी ग्रामीण भूमिहीन कृषि मजदूर न्याय योजना, अन्य पिछड़ा वर्ग तथा आर्थिक रूप से कमजोर वर्गों का पंजीयन, सर्वेक्षण, सत्यापन के संबंध में ग्रामीणों एवं मैदानी अधिकारियों से जानकारी ली। शासन के सुराजी गांव योजना शासन की फ्लैगशिप योजना है और इसके क्रियान्वयन के लिए सभी अधिकारी गंभीरतापूर्वक कार्य करें। उन्होंने कहा कि सुराजी गांव योजना की सफलता के लिए गौठान में मवेशी का आना जरूरी है। सभी गौठानों में गोबर खरीदी होना चाहिए तथा गौठान सक्रिय रहना चाहिए। वर्मी कम्पोस्ट तथा सुपर कम्पोस्ट के निर्माण के साथ ही वर्मी कम्पोस्ट की बिक्री भी होनी चाहिए।

 उन्होंने कहा कि गौठान मल्टीएक्टीविटी केन्द्र बन रहे हैं और यहां कृषि संबंधी गतिविधियां मशरूम उत्पादन, मछलीपालन, मुर्गीपालन, सामुदायिक बाड़ी एवं अन्य गतिविधियां संचालित होती रहे। उन्होंने कहा कि गौठान में एक से अधिक गतिविधियां संचालित होने से समूह की महिलाओं को लाभ होगा। वर्मी कम्पोस्ट की लाभांश राशि मिलने से उनका उत्साह बढ़ता है। उन्हें अन्य मल्टीएक्टिविटी गतिविधियों से जोडऩे की जरूरत है। ऐसे गौठान जहां विशेष ध्यान देने की जरूरत है, वहां सुविधाएं बढ़ाएं। महिलाओं के लिए आजीविका संवर्धन का कार्य प्रारंभ करें। महिला स्वसहायता समूह को विभिन्न गतिविधियों से जोड़कर प्रोत्साहित करें। वर्मी कम्पोस्ट निर्माण पर विशेष ध्यान दें। ताकि समूह की महिलाओं की आर्थिक स्थिति मजबूत बनें।  

कलेक्टर श्री डोमन सिंह ने कहा कि सूखा संभावित प्रभावित इलाकों में रोजगार संबंधी काम शुरू करने तथा जिन विभागों के लम्बित कार्य जो शुरू नहीं हुए है, उन्हें तत्काल शुरू करने के निर्देश दिए गए। ताकि लोगों को रोजगार मिलें। उन्होंने कहा मनरेगा के काम भी सुचारू रूप से चलते रहे यह सुनिश्चित किया जाए। दकलेक्टर ने गांवों में भू-अर्जन संबंधित प्रकरणों के कार्यों में गति लाने, भू-अर्जन प्रकरणों में पारित अवार्ड अनुसार प्रभावित कृषकों को मुआवजा राशि जल्द प्रदाय करने एवं पारित अवार्ड प्रकरणों में राजस्व अभिलेख दुरूस्ती तत्काल करने को कहा। उन्होंने संभावित सूखा प्रभावित क्षेत्रों को भ्रमण करने एवं गिरदावरी के संबंध में शत्-प्रतिशत् कार्य पूर्ण करने के साथ ही ग्रामीणों और किसानों से फसल आदि बचानें के संबंध में बातचीत करने को भी कहा।

 कलेक्टर ने ग्रामीणों से कहा कि टीकाकरण के लिए छूटे हुए पात्र व्यक्ति कोविड-19 का टीकाकरण शीघ्र करा लें और सभी की जिम्मेदारी है कि पात्र व्यक्तियों को टीकाकरण के लिए प्रेरित करें । उन्होंने ग्रामीणों से आयुष्मान कार्ड बनाने, मॉस्क पहनने, पेंशन, मकान क्षति, जल-जीवन मिशन सहित अन्य कार्याें की जानकारी ली। इस अवसर पर जिला पंचायत के मुख्य कार्यपालन अधिकारी श्री आकाश छिकारा, एसडीएम बागबाहरा श्री राकेश कुमार गोलछा, डिप्टी कलेक्टर सहित अन्य अधिकारी-कर्मचारीगण उपस्थित थे।
 

Related Post

Leave A Comment

छत्तीसगढ़