ब्रेकिंग न्यूज़

रुझानों से झुमा शेयर बाजार, पहली बार 40000 पार

 नई दिल्ली : लोकसभा चुनाव 2019 शुरुआती रुझानों में भाजपा को बहुमत मिलते देख सेंसेक्स 40000 के लेवल को पार कर गया। सेंसेक्स 893 अंकों की तेजी के बाद 40,003 पर कारोबार कर रहा है। पहली बार सेंसेक्स ने 40000 के लेवल को पार किया है। निफ्टी पहली बार 12000 के लेवल को पार कर गया। बीएसई के मिडकैप और स्मालकैप में 1 फीसदी की तेजी नजर आई।

 
आज सुबह से रुझानो के आने के बाद से ही शेयर मार्केट में जबरदस्त तेजी नजर आई। सेंसेक्स में सुबह 739 अंकों की उछाल के साथ 39,840 पर कारोबार कर रहा था। निफ्टी में 111.85 अंकों के उछाल के साथ 11,849 अंकों पर कारोबार कर रहा है। आज लोकसभा चुनाव 2019 के शुरुआती रुझानो में भाजपा को बहुमत मिलता नजर आ रहा है। 
 
कल बुधवार को शेयर बाजार हरे निशान पर बंद हुआ। कल सेंसेक्स 140 अंकों की बढ़त के साथ 39,110 और निफ्टी करीब 20 अंकों की बढ़त के साथ 11,737 के स्तर पर बंद हुआ। कल आईसीआईसीआई, इंडसएंड बैंक और एचडीएफसी बैंक के शेयरों में तेजी नजर आई। टेक महिंद्रा के शेयरों में 3 फीसदी की गिरावट देखने को मिली। रविवार को आए एक्जिट पोल में भाजपा की अगुवाई वाली राष्ट्रीय जनतांत्रिक गठबंधन सरकार के दोबारा सत्ता में आने का अनुमान लगाया गया है। तभी से शेयर मार्केट में उछाल नजर आ रहा है। बीते तीन दिनों में सेंसेक्स में 6 फीसदी की तेजी नजर आई। 
 
ऐसा माना जा रहा था कि चुनाव नतीजे एग्जिट पोल के मुताबिक रहे तो सेंसेक्स गुरुवार को 40 हजार अंक की रिकॉर्ड ऊंचाई के पार जा सकता है। एग्जिट पोल में मोदी सरकार की वापसी के संकेतों के बाद बाजार ने दस साल की लंबी छलांग लगाई थी। सेंसेक्स 1422 अंक उछल  39353 और निफ्टी 421 अंक चढ़कर 11,828 अंक पर पहुंचा था। विशेषज्ञ भी मोदी सरकार को 300 से ज्यादा सीटें हासिल होने पर सेंसेक्स के 40 हजार अंक और निफ्टी का 12 हजार के पार जाना तय मान रहे थे। 
 
मई में स्टॉक एक्सचेंज ने दो बड़े बदलाव देखे
1891 अंकों की गिरावट सेंसेक्स में 30 अप्रैल से 13 मई तक
09 दिन में आठ लाख करोड़ डूबे थे, निफ्टी 600 अंक गिरा था
 
इतना बड़ा उछाल, बाजार बंद करना पड़ा
2009 में यूपीए की सत्ता में वापसी के समय नौ बजे सेंसेक्स1306 उछला। बाजार दो घंटे के लिए बंद करना पड़ा। 11.55 बजे बाजार फिर सेंसेक्स 2111 उछलकर 14,273 अंक पर पहुंच गया। निफ्टी भी 636 अंक उछल के साथ 4308 अंक पर पहुंच गया। इसके बाद बाजार पूरे दिन के लिए बंद कर दिया गया। 
 
बाजार से दूर रहें छोटे निवेशक
विशेषज्ञों ने सलाह दी है कि कई एग्जिट पोल और मूल नतीजे अलग रहे हैं। छोटे निवेशकों को बाजार से दूर रहने की जरूरत है। अगर आप निवेश करने की सोच रहे हैं तो लंबी अविध के लिए निवेश करें। नतीजों के दिन बाजार में अतिउत्साह दिख सकता है, स्थिरता आने के कुछ दिन बाद ही निवेश का सोचना चाहिए। 
 
पांच साल में 14889 अंकों का उछाल
सेंसेक्स 16 मई 2014 को नतीजे के दिन 24121 पर था और अब मतगणना के एक दिन पहले 22 मई को  39110 पर है। इस तरह पांच साल में सेंसेक्स ने 14889 अंकों का फासला तय किया है। एक साल में ही बाजार में करीब चार हजार अंकों की बढ़त हुई है।

Related Post

Leave A Comment

छत्तीसगढ़

Advertisement